हमारे बारे में
शैक्षिक विवरण
 
प्रस्तावना
शैक्षिक कार्यक्रम
प्रवेश कार्यविधि
शुल्क संरचना
वित्त सहायता एवं छात्रवृत्ति
पुस्तकालय
नियोजन
नियम और विनियम
डिप्लोमा प्रमाणपत्र जारी करना
पूरक परीक्षा हेतु दिशा निर्देश
परीक्षा सूचीपत्र
नकल प्रमाणपत्र
सम्पर्क करें
प्रौद्योगिकी
 
प्रस्तावना
डिज़ाईन कैड / कैम / सी ए ई सेवाएँ
प्लास्टिक के लिए टूलिंग एवं मोल्ड निर्माण
प्लास्टिक उत्पाद निर्माण
प्लास्टिक परीक्षण एवं गुणवत्ता नियंत्रण
कैलिब्रेशन
पूर्व वितरण निरीक्षण
प्लास्टिक परियोजनाओं पर परामर्श कार्य
पूर्व वितरण निरीक्षण संबंधित महत्वपूर्ण घोषणा
सम्पर्क करें
अनुसंधान
 
ए आर एस टी पी एस
ए ए आर पी एम
उद्योग कार्यक्रम
 
उद्योग कार्यक्रम
अल्पावधि कार्यक्रम
प्रोडक्ट विकास/प्लास्टिक्स का प्रोसेसिंग/शीन मेंटनेन्स
प्रशिक्षण एवं गुणवत्ता सुधार
कम्प्यूटर आधारित प्रशिक्षण
मॉडुलर टैलर मैड प्रशिक्षण
प्रौद्योगिकी अभिविन्यस्त उद्यमिता विकास कार्यक्रम
सम्पर्क करें
 
प्रस्तावना
नौकरी के अवसर
 
 
   
 
सेन्ट्रल इंस्टिटयूट ऑफ प्लास्टिक्स इंजीनियरिंग एण्ड टेक़्नोलॉजी (सिपेट) भारत के प्रधान राष्ट्रीय संस्थान है, जो प्लास्टिक्स एवं संबद्ध उद्योगों हेतु शैक्षिक, प्रौद्योगिकी सहायता एवं अनुसंधान (ए टी आर) के लिए समर्पित है । प्रथम सिपेट कैम्पस चेन्नै में 1968 में भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया था एवं उसके पश्चात, देश में भारत सरकार द्वारा 15 सिपेट कैम्पस स्थापित किया गया है । आज, सिपेट कैम्पस (अहमदाबाद, अमृतसर, औरंगाबाद, भोपाल, भुवनेश्वर, चेन्नै, गुवाहाटी, हैदराबाद, हाजीपुर, हल्दिया, जयपुर, इम्फाल, लखनऊ, मैसूर एवं पानीपत) जो भारत एवं विदेशों के उद्योगों को ए टी आर सेवा द्वारा योगदान प्रदान कर रहे हैं तथा डिज़ाईन, कैड / कैम / सी ए ई, टूलिंग एवं मोल्ड निर्माण, प्लास्टिक्स प्रोसेसिंग, परीक्षण एवं गुण्वत्ता नियंत्रण के क्षेत्रों में समरूपी बुनियादी सुविधाऍं उपलब्ध हैं ।
 
     
  प्लास्टिक्स एवं संबद्ध उद्योगों को निपुण मानव संसाधन उपलब्ध करने हेतु प्लास्टिक्स इंजीनियरिंग एण्ड टेक़्नोलॉजी (डाक्टरी, स्नातकोत्तर, पूर्वस्नातक, स्नातकोत्तर डिप्लोमा एवं पोस्ट डिप्लोमा) के क्षेत्र में विभिन्न विशिष्ट शैक्षिक कार्यक्रमों के सम्मिश्रण को प्रदान करना सिपेट का लक्ष्य है । उद्योगों को प्रौद्योगिकी सहायक सेवाएँ (टी एस एस) एवं निपुण अनुसंधान सिपेट के महत्वपूर्ण उत्पाद विभागों में से एक हैं ।  
     
  सिपेट भारत एवं विदेशी राज्यों में डिज़ाईन, टूलिंग, प्लास्टिक्स प्रोसेसिंग, परिक्षण एवं आश्वासन में प्रौद्योगिकी परामर्शी सेवा प्रदान करता है । सिपेट ने पॉलिमर साईन्स, इंजिनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी के विभिन्न पहलुओं में विभिन्न सरकारी एवं गैर-सरकारी वित्त एजंसियों द्वारा प्रायोजित लगभग 35 अनुसंधान एवं विकास परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूर्ण कर लिया है । इसके अलावा, सिपेट ने उत्पाद डिज़ाईन एवं पॉलीमर नैनोकाम्पासिट्स, इत्यादि के विभिन्न क्षेत्रों में 5 पेटेंट फाइल किया है ।  
     
  लगभग 32,000 सशक्त भूतपूर्व सिपेट व्यायसायिकों के साथ, सिपेट ने केवल भारत में शीर्ष प्लास्टिक्स प्रौद्योगिकी संस्थान के रूप में ही नहीं, बल्कि, एशिया में भी एक अनूठा संस्थान के रूप में उभरा है । दक्षिण पूर्वी, मध्य पूर्वी देशों में तथा एफ्रिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, उत्तर अमेरिका इत्यादि (सिंगापुर, मलेशिया, तायलेण्ड, कोरिया, यू ए ई, ओमान, साउदी अरेबिया, नायजीरिया, केन्या, यू एस ए, कानडा, जर्मनी आदि) राज्यों में भूतपूर्व छत्रों का नेटवर्क फैला हुआ है ।  
     
  सिपेट ब्रांड को विश्व भर में प्लास्टिक्स उद्योगों के लिए पर्यवेक्षी एवं प्रबंधकीय कर्मचारियों हेतु प्रमुख योगयता मानदंड के रूप में मान्यता प्राप्त है ।  
     
  प्लास्टिक्स इंजीनियरिंग एण्ड टेक़्नोलॉजी के क्षेत्र में वैज्ञानिक एवं अनुसंधान संगठन के रुप में सिपेट को वैज्ञानिक औद्योगिक एवं अनुसंधान विभाग (डी एस आई आर) द्वारा मान्यता प्राप्त है ।  
     
  सल्तानेत ऑफ ओमान, सउदी अरब राज्य, श्रीलंका, खतार, यू ए ई, सिंगापुर, मलेशिया, नायजीरिया, केन्या, बंग्लादेश, इत्यादि से प्राप्त हो रही शैक्षिक एवं परामर्शी सेवाओं के प्रतिष्ठित कार्यों से सिपेट का अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्रकट हो रही है ।  
     
  सिपेट से संबंधित विकास, समाचार एवं दृष्टिकोण तथा उद्योगों की प्रवृत्तियों के बारे में विज्ञापन क्षेत्र के साथ सिपेट टायम्स जैसे क्रमिक प्रकाशनों को सिपेट प्रकाशित करता है । इसके अलावा, उच्च वर्गीय एवं श्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय सम्पादकीय बोर्ड के साथ प्लास्टिक्स टेक़्नोलॉजी के क्षेत्र में वैज्ञानितक जर्नल के रूप में सिपेट का इंटरनेशनल जर्नल ऑफ प्लास्टिक्स टेक़्नोलॉजी (आई जे पी टी) को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है ।  
     
  सिपेट ने भारत के क्षेत्रीय एवं राष्ट्रीय प्लास्टिक्स संघों के साथ बहुत अच्छा संपर्क स्थपित किया है ।